Hanuman Ji Ki Aarti – Aarti Kije Hanuman Lala Ki श्री हनुमान जी की आरती

Hanuman Ji Ki Aarti : Shri Hanuman Ji Ki Aarti श्री हनुमान जी की आरती – आरती की जय हनुमान लला की -Aarti Kije Hanuman Lala Ki.

हनुमान जी के भक्तों इस ऑडियो को पहले अवस्य सुन लें.

Hanuman Ji Ki Aarti

|| श्री हनुमंत स्तुति ||

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं,
जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम् ||

वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं,
श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे ||

|| हनुमान जी की आरती ||

Hanuman Ji Ki Aarti : Aarti Kije Hanuman Lala Ki

आरती किजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||

जाके बल से गिरवर काँपे |
रोग दोष जाके निकट ना झाँके ||

अंजनी पुत्र महा बलदाई |
संतन के प्रभु सदा सहाई ||

दे बीरा रघुनाथ पठाये |
लंका जाये सिया सुधी लाये ||

लंका सो कोट समुद्र सी खाई |
जात पवनसुत वार न लाई ||

लंका जारि असुर संहारे |
सियाराम जी के काज सँवारे ||

लक्ष्मण मुर्छित पड़े सकारे |
आनि संजीवन प्राण उबारे ||

पैठि पताल तोरि जम कारे|
अहिरावन की भुजा उखारे ||

बायें भुजा असुर दल मारे |
दाहीने भुजा सब संत जन उबारे ||

सुर नर मुनि जन आरती उतारे |
जय जय जय हनुमान उचारें ||

कचंन थार कपूर की बाती |
आरती करत अंजना माई ||

जो हनुमान जी की आरती गावैंं |
बसहिं बैकुंठ परम पद पावैंं ||

लंका विध्वंश किये रघुराई |
तुलसीदास स्वामी किर्ती गाई ||

|| जय बजरंगबली जय हनुमान ||

Hanuman Ji Ki Aarti PDF

हनुमान जी की आरती को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें इससे डाउनलोड पेज खुलेगा. जहाँ से आप हनुमान जी की आरती को पीडीऍफ़ में डाउनलोड कर सकेंगे. आप इसे सीधे प्रिंट भी कर सकतें हैं.

हनुमान जी की आरती कैसे करें?

  • हनुमान जी की आरती आप किसी भी दिन कर सकतें हैं.
  • मंगलवार का दिन हनुमान जी की आरती के लिए सबसे अच्छा होता है.
  • अगर आप रोजाना हनुमान जी की आरती नहीं कर पा रहें हैं तो कम से कम मंगलवार के दिन हनुमान जी की आरती अवस्य करें.
  • प्रातः काल और संध्या काल में हनुमान जी की आरती करने का शुभ समय होता है.
  • रामनवमी, हनुमान जयंती आदि में हनुमान जी की आरती अवस्य करें.
  • आरती सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ करें.
हनुमान जी की आरती कैसे करें?

हनुमान जी से संबंद्धित अन्य जानकारी के लिए आप विकिपीडिया पर जा सकतें हैं.

निवेदन

सभी हनुमान जी के भक्तों से हमारा निवेदन हैं की अपने ह्रदय में हनुमान जी के प्रति सच्ची श्रद्धा और भक्ति रखें. हमेशा सही कर्म करें पाप कर्मो से दूर रहें. जीवन में भलाई वाले कार्य करें.

इस पोस्ट में कहीं भी किसी प्रकार के सुधार की जरुरत हो तो कृपया हमें निचे कमेंट बॉक्स में लिखें. हम उसे अवस्य सुधार करेंगे.

आप अगर कोई सुझाव या सलाह देना चाहतें हैं तो निचे कमेंट बॉक्स में लिखें. आप सबके सलाह से हमें बेहतर करने में मदद मिलती है.

हनुमान जी से संबंद्धित हमारे अन्य प्रकाशनों को भी अवस्य देखें.

हनुमान चालीसा हिंदी में : Hanuman Chalisa Lyrics Hindi

हनुमान चालीसा इंग्लिश में : Hanuman Chalisa English Lyrics

श्री हनुमान चालीसा हिंदी पीडीऍफ़ : Hanuman Chalisa Hindi PDF

हनुमान चालीसा इंग्लिश पीडीऍफ़ : Hanuman Chalisa English PDF

  • Vishwakarma Ji Ki Aarti – श्री विश्वकर्मा भगवान की आरती
    Vishwakarma Ji Ki Aarti – श्री विश्वकर्मा भगवान की आरती – विश्वकर्मा पूजा के दिन और किसी भी निर्माण को आरम्भ करने से पूर्व श्री विश्वकर्मा भगवान की आराधना और […]
  • गौमाता की आरती : Gaumata Ki Aarti
    गौमाता की आरती : Gaumata Ki Aarti : गौमाता की आरती : Gaumata Ki Aarti || गौमाता की आरती || ॐ जय जय गौमाता, मैया जय जय गौमाता |जो कोई […]
  • Shankar Ji Ki Aarti | शिव शंकर जी की आरती
    Shankar Ji Ki Aarti | शिव शंकर जी की आरती करें और भगवान् शिव शंकर की परम कृपा प्राप्त करें. शिव शंकर जी की ॐ जय शिव ओमकारा आरती बहुत […]
  • Narmada Ji Ki Aarti – मैया नर्मदा जी की आरती
    Narmada Ji Ki Aarti – मैया नर्मदा जी की आरती Narmada Ji Ki Aarti नर्मदा जी की आरती ॐ जय जगदानन्दी,मैया जय आनंद कन्दी ।ब्रह्मा हरिहर शंकर, रेवाशिव हरि शंकर, […]
  • Ram Raksha Stotra श्री राम रक्षा स्तोत्र
    Ram Raksha Stotra – श्री राम रक्षा स्तोत्र : श्री राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करना बहुत ही शुभ फलदायी होता है. प्रभु श्री रामचंद्र जी की आराधना और स्तुति […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.