Padam Prabhu Ji Ki Aarti | पद्मप्रभु जी की आरती

Padam Prabhu Ji Ki Aarti | पद्मप्रभु जी की आरतीजैन धर्म के छठे तीर्थंकर श्री पद्मप्रभु जी की स्तुति के लिए इस आरती का श्रद्धा और भक्ति के साथ गायन करें और श्री पद्मप्रभु जी की आरती करें.

पद्मप्रभु जी को पद्मप्रभ के नाम से भी जाना जाता है. श्री पद्मप्रभ जी जैन धर्म के छठे तीर्थंकर थे.

श्री पद्मप्रभु जी का जन्म इक्ष्वाकु वंश में हुआ था. इनकी माता का नाम सुसीमा और पिता का नाम श्रीधर धरण राज था.

पद्मप्रभु जी ने इस जगत को अहिंसा की शिक्षा दी थी.

Contents
 [show]

    Padam Prabhu Ji Ki Aarti | पद्मप्रभु जी की आरती

    padam prabhu

    || श्री पद्मप्रभु की आरती ||

    जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी पद्मप्रभु देवा ।

    तुम बिन कौन जगत में, तुम बिन कौन जगत में ।
    पार करो देवा ।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी पद्मप्रभु देवा ॥

    तुम बिन कौन जगत में , तुम बिन कौन जगत में ।
    पार करो देवा।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी पद्मप्रभु देवा ॥

    तुम बिन कौन जगत में, तुम बिन कौन जगत में ।
    पार करो देवा ।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    तुम हो अगम अगोचर, हम हैं अज्ञानी, स्वामी हम हैं अज्ञानी ।

    अपरम्पार है महिमा, अपरम्पार है महिमा, काहू ना जानी ॥

    जय पद्मप्रभु देवा……

    संकट टारो सबके, आये हम शरणा, स्वामी आये हम शरणा ।

    कुमति हटा वर दीजे, कुमति हटा वर दीजे, कर जोड़े चरणा ॥

    जय पद्मप्रभु देवा……

    पाँव पड़े को ताड़ा सुख सम्पति दाता, स्वामी सुख सम्पति दाता।

    श्रीपाल को उबारा, श्रीपाल को उबारा, सुवर्ण तन कीना ॥

    जय पद्मप्रभु देवा……

    सीता के अग्नि कुण्ड को शीतल कर दीना, स्वामी शीतल कर दीना ।
    बचा लाज द्रोपदी की, बचा लाज द्रोपदी की, चीड़ बढ़ा दीना ।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    मात पिता तुम सबके, रक्षक हो मेरे, स्वामी रक्षक हो मेरे ।
    पद्म पूरी में आकर पद्म पूरी में आकर, द्वारा खड़े तेरे ।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    जो कोई आये शरण में नैया पार करो, स्वामी नैया पार करो ।
    सेवक चरणों में आये, सेवक चरणों में आये ।

    प्रभु जी पार करो ।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी पद्मप्रभु देवा ।

    तुम बिन कौन जगत में, तुम बिन कौन जगत में।
    पार करो देवा।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी पद्मप्रभु देवा ।

    तुम बिन कौन जगत में, तुम बिन कौन जगत में।
    पार करो देवा ।

    जय पद्मप्रभु देवा……

    श्री पद्मप्रभु जी की आराधना के लिए Padamprabhu Chalisa पदम प्रभु चालीसा का पाठ भी अवस्य करें.

    विडियो

    श्री पद्मप्रभु जी की आरती का यूट्यूब विडियो हमने यहाँ दिया हुआ है. आप इस विडियो को देखने के लिए प्ले का बटन दबाएँ.

    जय पद्मप्रभु देवा आरती

    आप सब अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में अवस्य लिखें.

    कुछ अन्य प्रकाशनों को भी देखें –

    Panch Parmeshthi Ki Aarti | पंच परमेष्ठी की आरती

    24 Tirthankar ki Aarti | चौबीस तीर्थंकर की आरती

    नाकोड़ा भैरव जी की आरती Nakoda Bhairav Aarti

    बाहुबली भगवान की आरती : Bahubali Bhagwan Ki Aarti

    Padmavati Mata Ki Aarti | पदमावती माता की आरती

    Saraswati Mata Ni Aarti | सरस्वती माता नी आरती

    Manibhadra Veer Ji Ki Aarti | मणिभद्र वीर जी की आरती

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.